कालसर्प दोष पूजा उज्जैन में ही क्यों होती है?

So many people can ask this question in english that why Kaal Sarp Dosh Puja performed in Ujjain, so we are giving here answer that why Kaal Sarp Dosh puja in Ujjain.

क्या होता है काल सर्प दोष?-

मित्रों, काल सर्प दोष एक ऐसा दोष है जो आपके द्वारा या हमारे पिछले जीवन में किए गए अपराध के परिणाम स्वरूप हमारी कुंडली में पाया जाता है । हमारे शास्त्रों में काल सर्प दोष को 'कर्तरी' दोष के समान माना गया है। कई जगहों पर इसे सर्प दोष के नाम से भी जाना जाता है। अब कई लोगों के सामने यह सवाल होगा कि इसका पता कैसे चलेगा। तो आपको बता दें कि सौरमंडल के नौ ग्रहों में राहु और केतु दोनों ही छाया ग्रह हैं। राहु के जन्म नक्षत्र के स्वामी काल और केतु के नाग होते हैं, इसलिए जब भी किसी मनुष्य की कुंडली में सभी ग्रह राहु और केतु के बीच बैठते हैं तो वे कालसर्प दोष बनाते हैं। इसके परिणामस्वरूप मनुष्य को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक रूप से कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है, तो आज ही कालसर्प दोष पूजा उज्जैन में करवाई।

यूं समझ लीजिए कि शांति,खुशी व उन्नति उसके जीवन से मुंह मोड़ लेते है। घर में हर रोज़ कलेश,संतान अवरोध या संतान की प्राप्ति ना होना, अंग हीन हो जाना,हर समय सब कुछ अशुभ होना आदि ये सभी बातें फिर आम सी होने लगती है। मुख्य रूप से 12 प्रकार के कालसर्प दोष माने गए है जिनके नकारात्मक प्रभाव से जातक की जान भी जा सकती है।

12 प्रकार के कालसर्प दोष:

There are 12 kinds of Kaal Sarp Dosh defined in our epics

1- अनंत कालसर्प योग। 

2- कुलिक कालसर्प योग। 

3- वासुकि कालसर्प योग। 

4- शंखपाल कालसर्प योग। 

5- पद्म कालसर्प योग। 

6- महापद्म कालसर्प योग। 

7- तक्षक कालसर्प योग। 

8- कर्कोटक कालसर्प योग। 

9- शंखनाद कालसर्प योग। 

10-पातक कालसर्प योग। 

11- विषाक्त कालसर्प योग। 

12- शेषनाग कालसर्प योग।

जैसा कि आपने देखा है कि यदि किसी की कुंडली में किसी भी प्रकार का कालसर्प दोष है तो उसकी मृत्यु हो सकती है। लेकिन अगर आप समय पर इलाज कराते हैं तो स्थिति फिर से ठीक हो सकती है क्योंकि अगर भगवान ने दर्द पैदा किया है तो उसका भी इलाज किया गया है। तो आइए जानते हैं कि ग्रंथों में किस पूजा का उल्लेख है और इससे बचने के लिए इसे कहां करना चाहिए।

कहां करे कालसर्प दोष पूजा? - (कालसर्प दोष पूजा उज्जैन)

Where we perform Kaal Sarp Dosh Puja?

कालसर्प दोष पूजा के लिए सबसे अच्छी और बेहतरीन जगह उज्जैन है। इसकी वजह यह है कि पूरे विश्व में केवल उज्जैन क्षेत्र ही तिल से धन्य है। मान्यता है कि यहां की जाने वाली हर पूजा चाहे कालसर्प दोष पूजा हो या कोई अन्य पूजा, इन सभी को बहुत जल्द फल मिल जाते हैं। यहां की गई पूजा आपको भगवान शिव के साथ-साथ अन्य देवी-देवताओं का आशीर्वाद देती है।

कालसर्प दोष पूजा उज्जैन में भी की जानी चाहिए क्योंकि संयुक्त भारत में बाबा महाकालेश्वर और नागस्थली को पवित्र नगरी उज्जैन से सर्वोच्च स्थान दिया गया है। उज्जैन को नागस्थली मुख्य स्थान के नाम से भी जाना जाता है। इसलिए जातक को कुंडली से कालसर्प दोष को रोकने के लिए कालसर्प दोष पूजा उज्जैन में करनी चाहिए।

कालसर्प दोष निवारण पूजा उज्जैन - 

मित्रों, कालसर्प दोष निवारण पूजा के लिए जातक को पहले किसी विद्वान पंडित को अपनी कुंडली दिखानी चाहिए और फिर कालसर्प दोष निवारण के लिए उज्जैन आना चाहिए। आपको बता दें कि कालसर्प दोष निवारण पूजा उज्जैन में केवल 3 घंटे के भीतर होती है। जिसमें श्रद्धालुओं को स्नान कर अपनी उपवास की शुरुआत करनी पड़ती है।

पूजा के लिए पुरुष जातक को केवल कुर्ता, धोती, गाचा और महिला जातक जैसे साड़ी या सलवार कमीज जैसे कपड़ों का ही प्रयोग करना चाहिए। कालसर्प दोष निवारण पूजा खत्म होते ही आपको उस कपड़े को उज्जैन में रखना होगा। कालसर्प दोष निवारण पूजा के लिए काले और हरे कपड़ों का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

What is Kaal Sarp Dosh?

As per the epics only Mahakal (Supreme God) can save anyone from Kaal (Death), and Kaal Sarp Dosh is a kind of death threat (Kaal Ka Bhay), City Ujjain is the famous for its spirituality as this is the Mahakal ki Nagari (City of Supreme God).

Before proceeding with the Kaal Sarp Dosh Puja Ujjain, you should know some symptoms of existence of Kaal Sarp Dosh in your horoscope or in other words you can say it the impact of this dosh in your daily life.

  • Losing property and its related problems
  • Problems related to health
  • Financial problems keep on crops up
  • There will not be any mental peace
  • Businesses may be at a loss
  • Unnecessary delays in every work 

How the Kaal Sarp Dosh formed ?

When Brahaspati(Jupiter), Mangal (Mars), and Shani(Saturn) three Grah (Planet of a person) came between Rahu and Ketu. Means these three grah should be in between Rahu's head and Ketu's tail then only Kaal Sarp Dosh will be there if the planets are between Ketu's to Rahu, then Kaal Sarp won’t be there. Always remember that Rahu and Ketu move retrograde only, so when the planets are between Rahu to Ketu then Kaal Sarp Dosh exist otherwise NO.

Since the starting of the creation so many scholars were very keen about this problem and thinking that if person is not suffering by Kaal Sarp dosh than how he or she can get free from problem, and their research completed after a long time by finding that only MahaKaal having the power to make a person free from this problem, so for this anyone can perform this Kaal Sarp Dosh Puja at Ujjain, Nasik and Varnasi.

Why Kaal Sarp Dosh Puja Ujjain is good?

Ujjain is very holy place for Kaal sarp dosh nivaran puja as this city is the city of Mahakal, every year a lot of people visited this city to warship the Supreme god mahakaal and take a holy bath is Kshipra river, so before moving towards the benefits of Kaal Sarp Yog Nivaran puja Ujjain, the pilgrim city of Ujjain is considered to be the place of snakes and since this puja is related to snakes, the KaalSarp Dosh can be prevented best at this city.

How to find Best Pandit ji for Kaal Sarp Dosh Puja  in Ujjain:

Even though Ujjain is holy city and so many scholars Brahmna's are there, but not every Brahmn is expert in every Pujan, Mainly in Kaal sarp dosh nivaran puja, as this puja is very sensitive puja and for this a Brahman or Pandit should be of strong will power and sacred soul, and must be maintaining all the customs, traditions and rituals, as he should be devotee of Mahakaleshwar.

We d can perform KaalSarp Dosh Puja for you, as we selected the best pandit for Kaal Sarp Dosh Puja Ujjain on the basis of our research that Pandit ji should follow the entire puja customs, the traditions and follow the rituals involved during the puja, Call us to know Kaal Sarp yog puja benefits, timing and other things including cost in Ujjain Mahakaleshwar.

चेक करे - मंगल दोष शांति पूजन उज्जैन

  • Give us a call: +91 9424002309
  • Send us a mail: [email protected]
  • Address: Mangalnath Mandir Marg Ujjain, Madhya Pradesh 456006
Follow Us

Contact Us